नीट यूजी काउंसलिंग 2024: अनियमितताओं के आरोपों के बाद स्थगित

नीट यूजी काउंसलिंग 2024: अनियमितताओं के आरोपों के बाद स्थगित

जुल॰, 7 2024

नीट यूजी 2024 काउंसलिंग प्रक्रिया में अनियमितताएं: आगे के आदेश तक स्थगित

देश भर के लाखों मेडिकल अभ्यर्थियों को झटका लगा है, जब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने नीट यूजी 2024 काउंसलिंग प्रक्रिया को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया। पहले यह काउंसलिंग 6 जुलाई 2024 से शुरू होनी थी, लेकिन अब इसके आगे बढ़ने की खबर आई है। ऐसा निर्णय मुख्य रूप से परीक्षा में कथित अनियमितताओं और विवादों के चलते लिया गया है।

मुख्य न्यायालय की भूमिका

इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में भी चर्चा होनी है। मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़, और न्यायमूर्ति जेबी पारदीवाला और मनोज मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ 8 जुलाई 2024 को नीट यूजी 2024 से संबंधित याचिकाओं पर विचार करेगी। अभ्यर्थी और उनके परिवार इस उम्मीद से हैं कि न्यायालय कोई संज्ञान लेकर वांछनीय समाधान प्रदान करेगा जिससे काउंसलिंग प्रक्रिया को पुनः शुरू किया जा सके।

अभ्यर्थी और परिजन के बीच बढ़ती चिंता

काउंसलिंग के स्थगित होने के परिणामस्वरूप अभ्यर्थियों के बीच चिंता और तनाव बढ़ गया है। महीनों की तैयारी और कठिनाईयों के बाद जब अभ्यर्थी नीट यूजी परीक्षा में उत्तीर्ण हुए, तो उन्हें काउंसलिंग प्रक्रिया का इंतजार था। अब काउंसलिंग तिथियों को आगे बढ़ा दिया गया है, जिससे छात्रों को योजना बनाने और संस्थान चयन प्रक्रिया में निराशा का सामना करना पड़ रहा है।

काउंसलिंग प्रक्रिया के मानक चरण

जैसा कि नीट यूजी काउंसलिंग प्रक्रिया के मानक प्रोटोकॉल में होता है, इसमें कई चरण शामिल होते हैं। अभ्यर्थी पहले रजिस्ट्रेशन करते हैं, फीस का भुगतान करते हैं, अपनी पसंद की प्राथमिकताओं का चयन करते हैं, आवश्यक दस्तावेज अपलोड करते हैं, और फिर उन्हें अपने आवंटित संस्थानों में फिजिकली रिपोर्ट करना होता है। यह प्रक्रिया बहुत ही महत्वपूर्ण होती है क्योंकि यह उनके भविष्य के करियर को निर्धारित करती है।

शिक्षा मंत्रालय और NTA की भूमिका

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी और शिक्षा मंत्रालय को इस मामले में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी। दोनों ही विभागों को यह सुनिश्चित करना होगा कि किसी भी प्रकार की अनियमितताओं का समाधान हो और काउंसलिंग प्रक्रिया सुचारू रूप से पुनः प्रारंभ हो। छात्रों और उनके परिवारों की यह मांग है कि स्थिति का समाधान शीघ्र हो ताकि उनकी शिक्षा और चिकित्सा करियर पर अनिश्चितता के बादल न छाए।

नए काउंसलिंग तिथियों की प्रतीक्षा

सभी की निगाहें अब 8 जुलाई 2024 को सुप्रीम कोर्ट पर टिकी हैं, जहां से नई काउंसलिंग तिथियों की घोषणा हो सकती है। नीट यूजी 2024 काउंसलिंग की देरी ने छात्रों को असमंजस की स्थिति में डाल दिया है, और वे जल्द से जल्द नए तिथियों की प्रतीक्षा कर रहे हैं ताकि उनकी मेडिकल शिक्षा का सफर अपनी पटरी पर लौट सके।

आशाओं का संचार

अभ्यर्थी और उनके परिजन उम्मीद कर रहे हैं कि शिक्षा मंत्रालय और न्यायालय मिलकर इस समस्या का शीघ्र समाधान करेंगे। इस बीच, छात्रों को अपनी तैयारी और अन्य आवश्यक कदमों को ध्यान में रखते हुए खुद को तैयार रखना होगा ताकि जब भी काउंसलिंग प्रक्रिया शुरू हो, वे तैयार रह सकें।

कुल मिलाकर, नीट यूजी 2024 काउंसलिंग की स्थगन की खबर ने अभ्यर्थियों में चिंता अवश्य बढ़ाई है, लेकिन उम्मीद है कि जल्द ही इससे बाहर निकलने का रास्ता मिलेगा। न्यायालय और संबंधित विभागों का यह उत्तरदायित्व है कि वे इस मामले को न्यासारहित ढंग से सुलझाए और छात्रों का भविष्य सुरक्षित करें।

लोकप्रिय लेख

नीट-यूजी 2024 पेपर लीक पर सुप्रीम कोर्ट के प्रमुख अवलोकन

आगे पढ़ें

विश्व जनसंख्या दिवस 2024: तिथि, थीम, इतिहास, महत्व, समारोह और उद्धरण

आगे पढ़ें

गुजरात हाईकोर्ट ने दी 'महाराज' फिल्म की नेटफ्लिक्स पर रिलीज को मंजूरी

आगे पढ़ें

विंबलडन 2024: जैस्मिन पाओलिनी की अद्भुत वापसी, फाइनल में पहुंचने का सफर

आगे पढ़ें