यूजीसी नेट जून 2024 के एडमिट कार्ड जारी: परीक्षा कार्यक्रम और दिशा-निर्देश

यूजीसी नेट जून 2024 के एडमिट कार्ड जारी: परीक्षा कार्यक्रम और दिशा-निर्देश

जून, 15 2024

यूजीसी नेट जून 2024: एडमिट कार्ड जारी

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने यूजीसी नेट जून 2024 परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए हैं। यह परीक्षा 18 जून 2024 को आयोजित होने जा रही है। एनटीए का यह कदम लाखों छात्रों और शोधार्थियों के लिए महत्वपूर्ण है जो जूनियर रिसर्च फेलो (जेआरएफ) और असिस्टेंट प्रोफेसर के पद के लिए यूजीसी नेट परीक्षा में भाग लेने वाले हैं।

परीक्षा का प्रारूप और समय

परीक्षा का प्रारूप और समय

इस बार की यूजीसी नेट परीक्षा कुल 83 विषयों में आयोजित की जाएगी। परीक्षा दो सत्रों में होगी: सुबह 9:30 बजे से 12:30 बजे और दोपहर 3 बजे से 6 बजे तक। परीक्षा पेन-और-पेपर मोड में आयोजित की जाएगी, जिससे छात्रों को अपने उत्तर पत्रक में लिखित रूप में उत्तर देना होगा।

यूजीसी नेट परीक्षा का मकसद न केवल शिक्षकों और शोधकर्ताओं को चुनना है, बल्कि इस साल से यह पीएचडी प्रवेश के लिए भी मान्य होगी। उम्मीदवारों को दोनों पेपरों में कुल 40% अंक हासिल करने होंगे, जबकि विभिन्न आरक्षित श्रेणियों के लिए न्यूनतम अंक अलग-अलग हो सकते हैं।

कैसे करें एडमिट कार्ड डाउनलोड

उम्मीदवार अपने एडमिट कार्ड को एनटीए की आधिकारिक वेबसाइट ugcnet.nta.ac.in से डाउनलोड कर सकते हैं। एडमिट कार्ड डाउनलोड करने के लिए उम्मीदवारों को अपने लॉगिन क्रेडेंशियल्स का उपयोग करना होगा। एडमिट कार्ड में परीक्षा का पूरा कार्यक्रम, परीक्षा केंद्र और उम्मीदवार के अन्य महत्वपूर्ण विवरण उपलब्ध होंगे। उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे अपने एडमिट कार्ड का प्रिंटआउट निकलवा कर सुरक्षित रखें और परीक्षा केंद्र पर इसे अवश्य साथ लेकर जाएं।

महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश

महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश

एनटीए ने उम्मीदवारों के परीक्षा देने के दौरान कुछ महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश भी जारी किए हैं:

  • उम्मीदवार को परीक्षा केंद्र पर परीक्षा शुरू होने से कम से कम एक घंटे पहले पहुंचना होगा।
  • एडमिट कार्ड के साथ एक वैध फोटो आईडी प्रूफ भी लाना आवश्यक होगा।
  • कोई भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे मोबाइल फोन, कैलकुलेटर, आदि परीक्षा केंद्र पर ले जाना प्रतिबंधित है।
  • परीक्षा केंद्र के भीतर महामारी सुरक्षा नियमों का पालन अनिवार्य है, जैसे मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग।

चूंकि यूजीसी नेट परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जाती है, यह उम्मीदवारों को उनके करियर को आगे बढ़ाने का एक महत्वपूर्ण अवसर देती है। इस बार की परीक्षा के लिए भी उम्मीदवारों ने अच्छे से तैयारियां की हैं और अब उन्हें अपने मेहनत का फल मिलने का इंतजार है।

ये सारे कदम न केवल परीक्षा को सुचारू और निष्पक्ष बनाने के लिए हैं, बल्कि यह भी सुनिश्चित करने के लिए हैं कि सभी उम्मीदवारों को समान अवसर मिलें।

चुनौतीपूर्ण कदम और भविष्य की संभावनाएं

वर्तमान समय में परीक्षा के तरीकों और कठिनाइयों को देखते हुए, यूजीसी नेट 2024 का यह एडमिट कार्ड जारी करना छात्रों के लिए एक महत्वपूर्ण मोड़ साबित हो सकता है। यह केवल एक परीक्षा नहीं बल्कि उनके भविष्य का एक महत्त्वपूर्ण हिस्सा है।

अगर कोई उम्मीदवार इस परीक्षा में उत्तीर्ण होता है, तो उनके लिए न केवल एक शैक्षणिक जीवन का द्वार खुल जाएगा, बल्कि उन्हें नौकरी और शोध के क्षेत्र में भी नए अवसर मिलेंगे। इस परीक्षा का परिणाम उनके कैरियर की दिशा को निर्धारित करेगा, इसलिए उसकी तैयारी और उसका अनुसरण उतना ही महत्वपूर्ण है।

अंत में, यह कहना गलत नहीं होगा कि यूजीसी नेट परीक्षा के एडमिट कार्ड का जारी होना लाखों उम्मीदवारों के लिए एक महत्वपूर्ण और उत्साहजनक घटना है। अब उन्हें बस अपने ऐडमिट कार्ड को अच्छी तरह से रखकर और परीक्षा के दिन अपनी पूरी तैयारी के साथ पहुंचने की आवश्यकता है।

लोकप्रिय लेख

झारखंड के मुख्यमंत्री एक बार फिर बनेंगे हेमंत सोरेन: झारखंड की राजनीति में बड़ा बदलाव

आगे पढ़ें

नीरज चोपड़ा की गोल्डन स्पाइक मीट से वापसी: चोट नहीं, एहतियातन कदम

आगे पढ़ें

भाजपा के दमदार नेता बंदी संजय का आरएसएस से केंद्रीय मंत्रिमंडल तक का सफर

आगे पढ़ें

IPL 2024: यश दयाल के धमाकेदार प्रदर्शन से RCB ने प्लेऑफ में बनाई जगह

आगे पढ़ें